Aarti Sangrah

Shri Radha Ji Ki Aarti : श्री राधा जी की आरती

आरती श्री वृषभानुसुता की, मंजु मूर्ति मोहन ममता की।।त्रिविध तापयुत संसृति नाशिनि, विमल विवेक विराग विकासिनि।पावन प्रभु पद प्रीति प्रकाशिनि, सुन्दरतम छवि सुन्दरता की।।आरती श्री वृषभानुसुता की।[…]

 

Shri Sitaram Arati (श्रीसीताराम जी की आरती)

मुनिजनमनोऽभिरामं नवमेघश्यामम्॥ जय राम जय श्रीराम॥पूर्णब्रह्म निष्कामं पूरितजनकामम्। (प्रभु) पूरितजनकामम् ।निजजनशोकविरामं व्रीडितशतकामम्॥ जय राम जय श्रीराम॥[…]

Shirdi Sai Baba Aarti In Hindi

ॐ जय साईं हरे, बाबा शिरडी साईं हरे।भक्तजनों के कारण, उनके कष्ट निवारण॥शिरडी में अवतरे, ॐ जय साईं हरे॥ ॐ जय…॥दुखियन के सब कष्टन काजे, रडी में प्रभु आप विराजे।फूलों की गल माला राजे, कफनी, शैला सुन्दर साजे॥कारज सब के करें, ॐ जय साईं हरे ॥ ॐ जय…॥[…]

Ganesh Aarti : जय गणेश

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा।माता जाकी पार्वती पिता हादेवा ||एकदन्त दयावन्त चारभुजाधारी |माथे पर तिलक सोहे, मूसे की सवारी पान चढ़े फूल चढ़े और चढ़े मेवा||लड्डुअन का भोग लगे सन्त करे सेवा[..]

DURGA MAA AARTI – अम्बे तू है जगदम्बे काली

अम्बे तू है जगदम्बे काली, जय दुर्गे खप्पर वाली lतेरे ही गुण गायें भारती, ओ मैया हम सब उतारें तेरी आरती llतेरे भक्त जनों पे माता, भीर पड़ी है भारी lदानव दल पर टूट पडो माँ, करके सिंह सवारी ll[…]

Mata ki Aarti | माता की आरती

जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी,तुमको निशिदिन ध्यावत, तुमको निशिदिन ध्यावत हरि ब्रह्मा शिवरी ॐ जय अम्बे गौरी,जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी तुमको निशिदिन ध्यावत, तुमको निशिदिन ध्यावत हरि ब्रह्मा शिवरी ॐ जय अम्बे गौरी[…]

AARTI OM JAI JAGDISH HARE 
ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी! जय जगदीश हरे।भक्तजनों के संकट क्षण में दूर करे॥ जो ध्यावै फल पावै, दुख बिनसे मन का। सुख-संपत्ति घर आवै, कष्ट मिटे तन का॥ ॐ जय…॥[…]

श्री तुलसी जी की आरती

जय जय तुलसी मातासब जग की सुख दाता, वर दाता जय जय तुलसी माता ।। सब योगों के ऊपर, सब रोगों के ऊपर रुज से रक्षा करके भव त्राता जय जय तुलसी माता।।[…]

LORD SHIVA AARTI : शिव जी की आरती

जय शिव ओंकारा ॐ जय शिव ओंकारा।ब्रह्मा विष्णु सदा शिव अर्द्धांगी धारा ॥ ॐ जय शिव…॥एकानन चतुरानन पंचानन राजे।[…]

श्री चिंतपूर्णी माता की आरती

चिंतपूर्णी चिंता दूर करनी, जग को तारो भोली माँजन को तारो भोली माँ, काली दा पुत्र पवन दा घोड़ा || भोली माँ ||सिन्हा पर भाई असवार, भोली माँ, चिंतपूर्णी चिंता दूर || भोली माँ ||[…]

Kali Maa Aarti In English

Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Jai Durga Khappar Wali l Tere Hi Gun Gayen Bharti,O Maiya Hum Sab Utare Teri Aarti ll Tere Bhakt Jano Pe Mata Bheer Padi Hai Bhari l[….]

श्री हनुमान जी की आरती

आरती कीजै हनुमानलला की, दुष्टदलन रघुनाथ कला की।जाके बल से गिरिवर कांपे, रोग दोष जाके निकट न झांपै।अंजनिपुत्र महा बलदायी, संतन के प्रभु सदा सहाई।दे बीरा रघुनाथ पठाये, लंका जारि सिया सुधि लाये।[…]

%d bloggers like this: