Advertisements

Surya Grahan 2020: 21 जून को लगेगा सूर्य ग्रहण

Surya_grahan

Surya Grahan 2020 June: इस महीने चंद्र ग्रहण के बाद अब सूर्य ग्रहण लगेगा। सूर्य ग्रहण 21 जून रविवार के दिन लगेगा और यह भारत में दिखाई देगा। इसलिए यहां ग्रहण का सूतक काल मान्य होगा। आइए जानते हैं यह ग्रहण किस राशि में लगेगा, इसका क्या प्रभाव होगा और ग्रहण का समय क्या रहेगा।

Surya Grahan June 2020 आज से 10 दिन बाद जून महीने की 21 तारीख को सूर्य ग्रहण लग रहा है। 3 घंटे 25 मिनट तक का यह पूर्ण ग्रहण होगा। 21 जून, रविवार को सुबह 10 बजकर 17 मिनट पर ग्रहण शुरू होगा। जबकि दोपहर 12 बजकर 10 मिनट पर सूर्य ग्रहण का मध्‍यकाल होगा। दोपहर बाद 2 बजकर दो मिनट पर ग्रहण की समाप्‍त हो जाएगा। इसके बाद साल 2020 के अंत में एक और सूर्य ग्रहण लगेगा। इस बार सूर्य ग्रहण अपने देश भारत में भी देखा जा सकेगा। लेकिन इसे नंगी आंखों से देखने का प्रयास कतई न करें।

इस दौरान चंद्रमा कुछ देर के लिए सूर्य को ढक लेगा। चंद्रग्रहण के बाद अब महीने सूर्यग्रहण की बारी है। इस बार 21 जून को साल का पहला सूर्य ग्रहण लगने जा रहा है। यह सूर्य ग्रहण भारत, मध्य अफ्रीकी गणराज्य, कांगो, इथियोपिया, पाकिस्तान और चीन सहित अफ्रीका के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा। ज्योतिषाचार्य पंडित राजेश उपाध्याय ने बताया कि सूर्य ग्रहण का समय सुबह 10 बजकर 31 मिनट से शुरू होकर दोपहर दो बजकर चार मिनट तक रहेगा। हालांकि इस बार सूर्यग्रहण रविवार को लग रहा है। ऐसे में शनिवार, 20 जून को ही रात 10 बजकर 20 मिनट से सूतक काल शुरू हो जाएगा।

सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को अतिरिक्‍त एहतियात बरतनी चाहिए। बालक, बुजुर्ग और मरीजों को छोड़कर दूसरे लोगों को भोजन का त्‍याग करना चाहिए। दो चंद्र ग्रहण  के बाद जब पूर्ण ग्रहण होता है तो चंद्रमा सूर्य को कुछ देर के लिए पूरी तरह ढक लेता है। हालांकि, आंशिक और कुंडलाकार  ग्रहण में सूर्य का केवल कुछ हिस्सा ही ढकता है। 21 जून को पड़ने जा रहा सूर्य ग्रहण कुंडलाकार है। कुंडलाकार ग्रहण ‘रिंग ऑफ़ फायर’ बनाता है, लेकिन यह पूर्ण ग्रहण से अलग होता है।

कब देखा जा सकता है सूर्य ग्रहण

  • पूर्ण ग्रहण शुरू होगा 21 जून सुबह 10 बजकर 17 मिनट पर
  • ग्रहण का मध्य दोपहर 12 बजकर 10 मिनट पर होगा
  • पूर्ण ग्रहण की समाप्ति दोपहर 2 बजकर 2 मिनट पर होगी
  • आंशिक ग्रहण की समाप्ति दोपहर 3 बजकर 4 मिनट पर होगी।
  • इस ग्रहण की अवधि 3 घंटे 25 मिनट की होगी।इसके बाद साल के अंत में एक और सूर्य ग्रहण होगा।

इस बात का रखें ख्याल

यदि आप सूर्य ग्रहण का गवाह बनना चाहते हैं, तो इसे नग्न आंखों से देखने का प्रयास न करें। कई बार लोग इस सलाह को मजाक में उड़ा देते हैं, लेकिन यह आपकी आंखों के लिए बेहद ज़रूरी है। नग्न आंखों से ग्रहण देखने पर आंखों को नुकसान पहुंच सकता है। दूरबीन, टेलीस्कोप, ऑप्टिकल कैमरा व्यूफाइंडर से सूर्य ग्रहण को देखना सुरक्षित है।

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: